Main Menu

PrimaryKaMaster: मृत शिक्षकों को भी बना दिया गया कक्ष पर्यवेक्षक, ऑनलाइन ड्यूटी लगाने में आई विसंगति का हल स्थानीय स्तर पर, माध्यमिक शिक्षा विभाग का फैसला

मृत शिक्षकों को भी बना दिया गया कक्ष पर्यवेक्षक, ऑनलाइन ड्यूटी लगाने में आई विसंगति का हल स्थानीय स्तर पर, माध्यमिक शिक्षा विभाग का फैसला


लखनऊ : यूपी बोर्ड परीक्षाओं के लिए माध्यमिक शिक्षा परिषद की ओर से पर्यवेक्षकों की ऑनलाइन ड्यूटी लगाने में बड़ी गड़बड़ी सामने आयी हैं। बोर्ड परीक्षाओं के लिए परिषदीय शिक्षकों की ड्यूटी भी लगा दी गई है। ड्यूटी लगाते वक्त ये भी ध्यान नहीं रखा गया है कि शिक्षक जीवित है या मृत। मृत शिक्षकों की ड्यूटी भी लगा दी है।



बोर्ड परीक्षा के लिए लगायी गई ऑनलाइन ड्यूटी में सरोजिनीनगर ब्लॉक के बेसिक स्कूल सदरौना के जगदम्बा प्रसाद यादव की ड्यूटी पर्यवेक्षक के रूप में लगायी गई है जिनका पूर्व में निधन में हो चुका है। इसी प्रकार चिनहट ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालय खाले देवरिया में मृत शिक्षिका कुसुम यादव की तैनाती भी पर्यवेक्षक के रूप में कर दी गई है।



विसंगति का हल स्थानीय स्तर पर : माध्यमिक शिक्षा विभाग

हाईस्कूल व इंटरमीडिएट यूपी बोर्ड परीक्षा में कक्ष निरीक्षकों की ड्यूटी में विसंगति का निस्तारण स्थानीय स्तर पर किया जाएगा। माध्यमिक शिक्षा विभाग की अपर मुख्य सचिव आराधना शुक्ला ने आदेश जारी किया है कि पहली बार सॉफ्टवेयर के माध्यम से ड्यूटी लगाई गई है जिसमें डाटा फीडिंग में हुई गलती के कारण कक्ष निरीक्षकों की ड्यूटी लगने में कुछ गलतियां हो सकती हैं।



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ