Main Menu

PrimaryKaMaster: यूपी बोर्ड परीक्षा के लिए जिलों में प्रभारी अधिकारी तैनात, देखें आदेश

यूपी बोर्ड परीक्षा के लिए जिलों में प्रभारी अधिकारी तैनात, देखें आदेश

 
लखनऊ :  माध्यमिक शिक्षा विभाग के विशेष सचिव शम्भू कुमार यूपी बोर्ड की परीक्षाओं के प्रभारी होंगे और राज्यस्तरीय कंट्रोल रूम की मॉनिटरिंग करेंगे। विशेष सचिव जय शंकर दुबे प्रभारी अधिकारियों के साथ समन्वय स्थापित कर विशेष मॉनिटरिंग करेंगे और संवेदनशील जिले आजमगढ़, वाराणसी और गोरखपुर मंडलों के जिलों का दौरा करेंगे।


सभी जिलों के लिए प्रभारी अधिकारी भी नियुक्त कर दिए गए हैं। माध्यमिक शिक्षा विभाग की अपर मुख्य सचिव आराधना शुक्ला ने मंगलवार को आदेश जारी कर दिया है। शम्भु कुमार लखनऊ, इसके आसपास के जिलों में परीक्षा के दौरान निरीक्षण भी करेंगे। हर पाली व दिन के अंत में उस दिन की परीक्षा की पूरी रिपोर्ट लेंगे।



 वहीं जय शंकर दुबे सभी जिलों में प्रश्नपत्र व उत्तरपुस्तिकाओं की सुरक्षा व्यवस्था की मॉनटरिंग करेंगे और सॉफ्टवेयर के माध्यम से कक्ष निरीक्षकों व अन्य कर्मचारियों की तैनाती, उपस्थिति व देयकों की मॉनिटरिंग भी करेंगे। शिक्षा निदेशक परीक्षा के सफलतापूर्वक संचालन के लिए जिम्मेदार होंगे। प्रश्नपत्र व उत्तरपुस्तिकाओं के सुरक्षित रखरखाव, परीक्षा कार्यों में संलग्न सभी अधिकारियों व कर्मचारियों की ड्यूटी समेत विभिन्न विभागों से समन्वय, हेल्पलाइन के एकाउंट की क्रियाशीलता आदि की मॉनिटरिंग की जाएगी।


हड़ताल पर रोक: माध्यमिक शिक्षा परिषद के अधीन सभी सेवाओं में हड़ताल पर छह महीने के लिए तत्काल प्रभाव रोक भी लगा दी गई है।



केन्द्र व्यवस्थापक एक घंटा पहले पहुंचेंगे परीक्षा केन्द्र

लखनऊ। यूपी बोर्ड परीक्षा में केंद्र व्यवस्थापक को परीक्षा शुरू होने के एक घंटा पहले तो स्टैटिक मजिस्ट्रेट को आधा घंटा पहले परीक्षा केंद्र पर पहुंचना होगा। नकलविहीन के नाम पर परीक्षार्थियों के जूते-मोजे उतार कर परीक्षा देने को नहीं कहा जाएगा। स्टैटिक व सेक्टर मजिस्ट्रेट और केन्द्र व्यवस्थापक को परीक्षा के दौरान क्या करना है, क्या नहीं, इस संबंध में माध्यमिक शिक्षा निदेशक विनय कुमार पाण्डेय ने आदेश जारी कर दिया है। परीक्षाएं 24 मार्च से शुरू हो रही हैं।

तीनों को ही मीडिया ब्रीफिंग व प्रेस से बात करने की मनाही है। वहीं सीसीटीवी के सामने सील्ड पैकेट खुलवाना व डबल लॉकर तक पुलिस एस्कार्ट में पहुंचाने के भी आदेश हैं। बालिकाओं की तलाशी पुरुष नहीं लेंगे।



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ