UPTET 2021: Live CCTV सर्विलांस से होगी यूपीटीईटी परीक्षा की मॉनीटरिंग - primary ka master - प्राइमरी का मास्टर | Primary Ka Master News | Basic Shiksha News, Updatemarts - PRIMARY KA MASTER

Breaking

Primary Ka Master Daily News Provides all of the news about primary ka master, shiskhamitra, uptet news, basic shiksha news and etc.

Main Menu

रविवार, 21 नवंबर 2021

UPTET 2021: Live CCTV सर्विलांस से होगी यूपीटीईटी परीक्षा की मॉनीटरिंग - primary ka master

UPTET 2021:  Live CCTV सर्विलांस से होगी यूपीटीईटी परीक्षा की मॉनीटरिंग



उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपीटीईटी)2021 की निगरानी इस बार लाइव सीसीटीवी सर्विलांस से होगी। राज्य स्तर पर नियंत्रण कक्ष से निरंतर परीक्षा केंद्र की सभी गतिविधियों की निगरानी होगी। साथ ही परीक्षा केंद्र पर केंद्र व्यवस्थापक, नामित पर्यवेक्षक एवं स्टेटिक मजिस्ट्रेट को भी कैमरा युक्त मोबाइल, स्मार्ट फोन ले जाने की अनुमति नहीं होगी। कैमरा रहित सामान्य की पैड वाला फोन ही ले जा सकते हैं, जो स्मार्ट फोन की श्रेणी में न आता हो। 



यह परीक्षा सूबे के सभी 75 जिलों में बनाए गए 2554 केंद्रों पर संपन्न होगी।  28 नवंबर को यह परीक्षा दो पालियों में संपन्न होगी। पहली पाली में सुबह दस से साढ़े बारह बजे के बीच प्राथमिक स्तर की परीक्षा होगी, जबकि दूसरी पाली में दोपहर ढाई से पांच बजे के बीच उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा संपन्न होगी। प्राथमिक स्तर की परीक्षा के लिए 12,91,628 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है, जबकि उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा में 8,73,552 अभ्यर्थियों ने पंजीकरण कराया है।


प्राथमिक स्तर की परीक्षा सूबे के 2554 केंद्रों पर आयोजित होगी, जबकि उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा के लिए प्रदेश भर में कुल 1747 केंद्र बनाए गए हैं। परीक्षा सकुशल संपन्न कराने के लिए सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी की ओर से सभी केंद्र व्यवस्थापकों और केंद्र अध्यक्षों को जरूरी निर्देश भेज दिए गए हैं। परीक्षा केंद्र पर प्रत्येक पैकेट परीक्षा शुरू होने के एक घंटे पूर्व ही केंद्र व्यवस्थापक द्वारा दो कक्ष निरीक्षक तथा पर्यवेक्षक की उपस्थिति में खोला जाएगा तथा प्रमाण पत्र पर हस्ताक्षर किया जाएगा।


गलत प्रश्न पत्र पैकेट खुलने पर पूर्ण जिम्मेदारी केंद्र अध्यक्ष की होगी। परीक्षा में श्रुत लेखक साथ लाने व परीक्षा अवधि में अतिरिक्त 30 मिनट प्रदान किए जाने का लाभ केवल उन्हीं परीक्षार्थियों को मिलेगा जो पूर्ण रूप से दृष्टिबाधित लिखने व गोला करने में असमर्थ होंगे। 30 मिनट के अतिरिक्त समय के लिए परीक्षार्थी को परीक्षा तिथि के पूर्व केंद्र व्यवस्थापक को इस आशय का प्रत्यावेदन सुसंगत अभिलेखों से सहित प्रस्तुत करना होगा।



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें