यूपी : बीएड कॉलेजों में 2.32 लाख विद्यार्थियों ने लिया प्रवेश, काउंसिलिंग का आखिरी चरण आज से - primary ka master - Sarkari Master | Primary Ka Master News | Basic Shiksha News, Updatemarts - PRIMARY KA MASTER

Breaking

Primary Ka Master Daily News Provides all of the news about primary ka master, shiskhamitra, uptet news, basic shiksha news and etc.

Main Menu

मंगलवार, 16 नवंबर 2021

यूपी : बीएड कॉलेजों में 2.32 लाख विद्यार्थियों ने लिया प्रवेश, काउंसिलिंग का आखिरी चरण आज से - primary ka master

यूपी : बीएड कॉलेजों में 2.32 लाख विद्यार्थियों ने लिया प्रवेश, काउंसिलिंग का आखिरी चरण आज से

अल्पसंख्यक कॉलेज प्रवेश की प्रक्रिया से संबंधित विवि के कुलसचिव अपने लॉगिन से प्रवेशित अभ्यर्थियों की सूची को देख सकते हैं। कॉलेज लखनऊ विवि की वेबसाइट से अभ्यर्थी के विवरण का सत्यापन करेगा और नियमानुसार अभ्यर्थियों को सीधे प्रवेश देगा।




लखनऊ विश्वविद्यालय द्वारा अगस्त से कराई जा रही बीएड प्रवेश काउंसिलिंग के तीन चरण पूरे हो गए हैं। पहले चरण में 1,18,051, दूसरे चरण में 18,305 और तीसरे चरण में 96,401 इस तरह कुल 2,32,757 अभ्यर्थियों ने बीएड कॉलेजों में प्रवेश पाया। काउंसिलिंग का आखिरी चरण 16 नवंबर से शुरू होगा, जो 20 नवंबर तक चलेगा।

प्रदेश भर के बीएड कॉलेजों में कुल सीटें 2,52,298 हैं। संयुक्त बीएड प्रवेश परीक्षा की राज्य समन्वयक प्रो. अमिता बाजपेयी ने बताया कि काउंसिलिंग के इस चरण में केवल वैध स्टेट रैंकधारक अभ्यर्थी ही शामिल हो सकते हैं, जो मुख्य काउंसिलिंग में शामिल नहीं हुए हैं अथवा मुख्य काउंसिलिंग अथवा पूल काउंसिलिंग में प्रतिभाग किया था, लेकिन उन्हें कोई सीट आवंटित नहीं हो सकी है। अभ्यर्थियों को इसके लिए अल्पसंख्यक महाविद्यालयों से संपर्क कर सकेंगे।

अल्पसंख्यक कॉलेज प्रवेश की प्रक्रिया से संबंधित विवि के कुलसचिव अपने लॉगिन से प्रवेशित अभ्यर्थियों की सूची को देख सकते हैं। कॉलेज लखनऊ विवि की वेबसाइट से अभ्यर्थी के विवरण का सत्यापन करेगा और नियमानुसार अभ्यर्थियों को सीधे प्रवेश देगा। अभ्यर्थी का सत्यापन जेईई बीएड परामर्श पोर्टल पर अभ्यर्थी के पंजीकरण और मोबाइल नंबरों पर भेजेे गए ओटीपी को दर्ज करके करना होगा। अल्पसंख्यक सीटों पर सीधे प्रवेश प्रक्रिया में भाग लेने के लिए अभ्यर्थियों को 750 रुपये काउंसिलिंग शुल्क का भुगतान करना होगा। शुल्क कॉलेज स्तर पर ही जमा किया जाएगा।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें