प्राथमिक शिक्षकों की भर्ती के लिए चलाया ट्विटर अभियान, रोजगार आंदोलन तेज करने का संकल्प - प्राइमरी का मास्टर | Primary Ka Master News | Basic Shiksha News, Updatemarts - PRIMARY KA MASTER

Breaking

Primary Ka Master Daily News Provides all of the news about primary ka master, shiskhamitra, uptet news, basic shiksha news and etc.

Main Menu

सोमवार, 13 सितंबर 2021

प्राथमिक शिक्षकों की भर्ती के लिए चलाया ट्विटर अभियान, रोजगार आंदोलन तेज करने का संकल्प

 

प्राथमिक शिक्षकों की भर्ती के लिए चलाया ट्विटर अभियान, रोजगार आंदोलन तेज करने का संकल्प

प्रयागराज : सूबे में प्राथमिक शिक्षकों की नई भर्ती निकालने की मांग जोर पकड़ती जा रही है। इसके मद्देनजर प्रतियोगियों ने रविवार को ट्विटर पर अभियान चलाया। बीएड, डीएलएड, बीटीसी प्रशिक्षित सैकड़ों युवाओं ने ट्वीटर पर Upgovt_relaseUPPRT ट्रेंड करवाया। प्रतियोगियों का ट्विटर पर अभियान निरंतर जारी रहेगा। इसके साथ धरना प्रदर्शन करने का निर्णय लिया गया है। भर्ती निकलवाने की मांग को लेकर प्रतियोगियों ने बीते दिनों परीक्षा नियामक प्राधिकारी का घेराव कर चुके हैं। ट्विटर अभियान का नेतृत्व कर रहे आल बीटीसी डीएलएड वेलफेयर एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष राजपूत विकास सिंह का कहना है कि शासन ने तीन सदस्यीय कमेटी गठित करने का आश्वासन दिया था। बेसिक शिक्षा विभाग में नए पदों का सृजन करके कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर आगे की प्रक्रिया को संचालित करने की बात कही गई थी, लेकिन उसके अनुरूप कुछ नहीं हुआ।


प्रतियोगी शिवांशु मिश्र ने कहा कि शासन को उसके वादे की याद दिलाने के लिए मुख्यमंत्री व बेसिक शिक्षा मंत्री को टैग करके कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर शीघ्र नई बेसिक शिक्षक भर्ती की घोषणा करने की अपील की जा रही है। संगठन के प्रदेश प्रवक्ता रामानुज दुबे का कहना है कि पिछली 69000 भर्ती के बाद सरकार ने नई भर्ती नहीं निकाली है, जबकि सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हलफनामे में 51112 पदों के रिक्त होने की बात सरकार ने स्वीकारी थी। ऐसे में नई भर्ती जल्द निकाली जाय। अभियान में बंटी पांडेय, अखंड प्रताप सिंह, अमित कुमार, अंतिमा कौशिक, नेहा निर्मल, कोमल, शिवम, अíपत, वैभव, आकाश शामिल रहे।

रोजगार आंदोलन तेज करने का संकल्प

प्रयागराज : रोजगार देने की मांग कर रहे प्रतियोगियों ने आंदोलन तेज करने का संकल्प लिया है। युवा मंच अध्यक्ष अनिल सिंह का कहना है कि राष्ट्रपति के प्रयागराज दौरे के कारण पुलिस ने आंदोलन चलाने वाले युवाओं को गिरफ्तार कर लिया था। रिहाई के बाद इलाहाबाद विश्वविद्यालय स्थित शहीद लाल पद्मधर की मूíत में माल्यार्पण कर रोजगार आंदोलन को अंजाम तक पहुंचाने का संकल्प लिया गया है। इसके मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर 17 सितंबर को बेरोजगारी दिवस मनाया जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें