Main Menu

जूनियर एडेड शिक्षक भर्ती परीक्षा : आरोप झूठे थे, ओएमआर शीट सच निकली

जूनियर एडेड शिक्षक भर्ती परीक्षा : आरोप झूठे थे, ओएमआर शीट सच निकली



एडेड जूनियर हाईस्कूल शिक्षक भर्ती के संशोधित परिणाम में अंक घटा दिए जाने और अवैध (इनवैलिड) घोषित कर दिए जाने के अभ्यर्थियों के आरोप कंप्यूटर स्क्रीन पर टिक नहीं सके। उत्तर प्रदेश परीक्षा प्राधिकारी (पीएनपी) नियामक प्राधिकारी सचिव ने प्रत्यावेदन देने वाले अभ्यर्थियों को कंप्यूटर पर स्कैन उनकी मूल ओएमआर शीट बारी बारी से दिखाई तो उनके आरोप गलत निकले। ओएमआर शीट पर गलती देखकर अभ्यर्थी लौट गए। -



प्रधानाध्यापक के 390 और सहायक अध्यापक के 1504 पदों की वर्ष 2021 की इस भर्ती परीक्षा का परिणाम 15 नवंबर, 2021 को घोषित किया गया था। इसमें 132 अभ्यर्थियों को कम अंक दिए जाने की गड़बड़ी की पुष्टि होने पर शासन ने परिणाम का पूनर्मूल्यांकन कराया गया। छह सितंबर, 2022 को संशोधित परिणाम जारी किया गया तो बड़ी संख्या में उलटफेर हो गया। जिनके अंक कम हो गए या सिरीज अथवा विषय गलत भरने के कारण अवैध हो गए, उन्होंने पीएनपी में प्रत्यावेदन दिया। 


प्रत्यावेदन देने वाले अभ्यर्थियों को पीएनपी सचिव ने एक सप्ताह बाद बारी-बारी से कार्यालय बुलाया। ओएमआर शीट की कार्बन कापी स्कैन कराई। सचिव अनिल भूषण चतुर्वेदी ने बताया कि करीब 250 अभ्यर्थियों ने प्रत्यावेदन दिए हैं। इसमें 100 से ज्यादा को उनकी मूल ओएमआर शीट अब तक कंप्यूटर पर दिखाई गई, जिसमें किसी के भी अंक या अवैध की स्थिति में परिवर्तन नहीं हुआ।


ऐसे हुए प्रश्न और जवाब


केस 1

महिला अभ्यर्थी :- ये देखिए मेरी ओएमआर शीट की कार्बन कापी । पहले हमें 134 अंक मिले थे। अब 117 कैसे हो गए?

सचिव :- देखिए अपनी मूल ओएमआर शीट । कई प्रश्नों के उत्तर में एक गोले को पूरा काला किया है और दूसरे को अधूरा। इस कारण इसके अंक नहीं मिले ।

फिर प्रश्न :- पहले तो इसे सही मानकर अंक दिए गए थे?

सचिव : ऐसी ही गड़बड़ी के कारण संशोधित परिणाम जारी हुआ है, अन्यथा संशोधित क्यों जारी होता।

(महिला तनतनाते हुए निकल गई ।)



केस 2

महिला अभ्यर्थी :- मेरे 102 अंक थे, अब 100 कैसे हो गए?

सचिव :- ये देखिए, गोले को काला करने में गड़बड़ी की है।

पुरुष अभ्यर्थी :- 109 अंक मिले थे, अब तीन अंक कैसे घट गए । ये देखिए ओएमआर शीट की कार्बन कापी ।

सचिव :- दिखाते हुए - एक गोले को पूरा काला किया है, दूसरे को आधा किया है। इससे इसका मूल्यांकन नहीं हुआ।

पुरुष अभ्यर्थी : पहले 124 अंक मिले थे, अब शून्य कैसे हो सकता है?

सचिव : आपने प्रश्नपुस्तिका दूसरे सीरीज की हल की है और ओएमआर शीट पर दूसरी सीरीज के संकेतांक को काला किया है। यह अवैध है।




एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ