Main Menu

बच्चों की शैक्षिक प्रगति अभिभावकों से साझा करें शिक्षक, बोले बेसिक शिक्षा मंत्री

बच्चों की शैक्षिक प्रगति अभिभावकों से साझा करें शिक्षक, बोले बेसिक शिक्षा मंत्री


लखनऊ। बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री संदीप सिंह ने कहा कि शिक्षक बच्चों को अच्छी शिक्षा प्रदान करने के साथ ही निपुण भारत मिशन को सफल बनाएं। अभिभावकों को बच्चों की शिक्षा अर्जन की स्थिति की जानकारी भी दें। इससे अभिभावक भी बच्चों की शिक्षा पर ध्यान दे सकेंगे। वे रविवार को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में निपुण भारत मिशन के तहत आयोजित साक्षरता व संख्या ज्ञान और शिक्षक प्रशिक्षण कार्यक्रम में बोल रहे थे।




उन्होंने कहा कि निपुण भारत मिशन के तहत यूपी को निपुण प्रदेश बनाने के लिए हम सबको मेहनत करना है। इस क्रम में विभाग शिक्षकों के प्रशिक्षण पर विशेष ध्यान दे रहा है। महानिदेशक स्कूल शिक्षा विजय किरन आनंद ने कहा कि इस मिशन को सफल बनाने में शिक्षकों की अहम भूमिका है। मिशन के तहत ही कक्षा 4 व 5 के बच्चों के लिए बुनियादी शिक्षा पर आधारित उपचारात्मक शिक्षण के लिए शिक्षक प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू किया जा रहा है। मंत्री ने पूर्व माध्यमिक विद्यालय गोसाईगंज लखनऊ की बालिकाओं को भी सम्मानित किया गया।



अभिभावकों से भी समन्वय करें शिक्षक: संदीप सिंह


लखनऊ  । बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) संदीप सिंह ने शिक्षकों का आह्वान करते हुए कहा है कि शिक्षक बच्चों के अभिभावकों से बातचीत करते हुए उनकी प्रगति की जानकारी दें। इससे अभिभावकों का जुड़ाव बढ़ेगा और वे बच्चों की पढ़ाई पर ध्यान देंगे।

श्री सिंह ने रविवार को कक्षा चार व पांच की बुनियादी शिक्षा और संख्या ज्ञान कार्यक्रम व शिक्षक प्रशिक्षण के कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए कहा कि हम यूपी को सबसे पहले निपुण प्रदेश बनाएंगे।

उन्होंने कहा कि निपुण भारत मिशन की सफलता शिक्षकों के ऊपर निर्भर है । हम सभी को मेहनत से काम करना है। इस मौके में उन्होंने शिक्षक निर्देशिका का विमोचन करते हुए पांच मास्टर ट्रेनर को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। महानिदेशक स्कूल शिक्षा विजय किरण आनंद ने कहा कि निपुण भारत मिशन के तहत विभिन्न गतिविधियों से संबंधित प्रशिक्षण आदि की जानकारी दी जा रही है। कक्षा एक से कक्षा तीन तक के लिए बुनियादी शिक्षा पर शिक्षण कार्य सभी स्कूलों में किया जा रहा है। प्रथम एजुकेशन फाउंडेशन के साथ मिल कर यूपी सरकार बुनियादी शिक्षा पर आधारित प्रशिक्षण देने जा रही है।



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ