Main Menu

सख्ती का असर : पहले दिन एक तिहाई छात्रों ने छोड़ी मदरसा बोर्ड की परीक्षाएं

सख्ती का असर : पहले दिन एक तिहाई छात्रों ने छोड़ी मदरसा बोर्ड की परीक्षाएं



लखनऊ : मदरसा बोर्ड की परीक्षाओं में सख्ती के कारण पहले ही दिन करीब एक तिहाई छात्र-छात्रएं परीक्षा देने ही नहीं आए। नकल विहीन परीक्षा कराने के लिए मदरसा बोर्ड ने इस बार कड़े इंतजाम किए हैं। सीसीटीवी की निगरानी में हो रही परीक्षाओं के अलावा 150 परीक्षा केंद्रों पर वेबका¨स्टग कराई जा रही है। लखनऊ में बने कंट्रोल रूम से सीधे परीक्षा केंद्रों पर आनलाइन निगरानी की जा रही है।



मदरसा बोर्ड की परीक्षाएं शनिवार 14 मई से शुरू हो गईं। परीक्षा के लिए बोर्ड ने 523 केंद्र बनाए हुए थे। पहली पाली में 93751 परीक्षार्थियों को परीक्षा देनी थी, किंतु 30717 परीक्षार्थी परीक्षा देने ही नहीं आए। यानी 32.76 प्रतिशत छात्र-छात्रएं अनुपस्थित रहे। 63034 छात्र-छात्रओं ने परीक्षा दी। पहले दिन एक नकलची मुजफ्फरनगर जिले से पकड़ा गया।


मदरसा बोर्ड के चेयरमैन डा. इफ्तिखार अहमद जावेद एवं रजिस्ट्रार एसएन पाण्डेय ने लखनऊ के परीक्षा केंद्रों का औचक निरीक्षण किया। दोनों को ही किसी भी जगह कोई गड़बड़ी नहीं मिली। वहीं, शाम की पाली में अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के विशेष सचिव जेपी सिंह ने लखनऊ के जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी सोन कुमार के साथ कई परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण किया। सभी जगह शांतिपूर्ण परीक्षा होती मिली।




एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ