69000 शिक्षक भर्ती : 6 हजार अभ्यर्थियों की सूची आज जारी होने के आसार कम - PrimaryKaMaster : Primary Ka Master | basic shiksha news | Updatemarts - PRIMARY KA MASTER

Breaking

PrimaryKaMaster : Primary Ka Master | basic shiksha news | Updatemarts - PRIMARY KA MASTER

PrimaryKaMaster : Primary Ka Master | प्राइमरी का मास्टर | Updatemarts - PRIMARY KA MASTER providing all of the primary ka master news, updatemart, basic shiksha news, updatemarts, updatemarts.in, basic shiksha parishad, basic shiksha, up basic news, प्राइमरी का मास्टर.org.in, primarykamaster news, basic shiksha parishad news, primary ka master up, primary master, up basic shiksha parishad, news in uptet, up basic shiksha, up ka master, primary ka master current news today

सोमवार, 3 जनवरी 2022

69000 शिक्षक भर्ती : 6 हजार अभ्यर्थियों की सूची आज जारी होने के आसार कम

69000 शिक्षक भर्ती : 6 हजार अभ्यर्थियों की सूची आज जारी होने के आसार कम


लखनऊ : बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों में नियुक्ति पाने के दावेदार लगभग छह हजार अभ्यर्थियों की सूची सोमवार को सार्वजनिक होने के आसार कम हैं। कहा जा रहा है इस मामले में न्याय विभाग से मार्गदर्शन लिया जा रहा है इसीलिए छूटे चयनितों की सूची बनाने में विलंब हो रहा है। ज्ञात हो कि सूची का वेबसाइट पर प्रकाशन 30 दिसंबर को ही होना था, लेकिन अपरिहार्य कारण से ऐसा नहीं हो सका। तब चयनितों की सूची तीन जनवरी को वेबसाइट पर अपलोड करने की नई तारीख तय हुई थी।



परिषदीय प्राथमिक स्कूलों की 69 हजार सहायक अध्यापक भर्ती में अधिकारियों व कार्मिकों की अनदेखी से आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों का अपेक्षित चयन नहीं हो सका था। इसे लेकर अभ्यर्थी आंदोलित थे। 


मुख्यमंत्री ने इसका संज्ञान लिया तो बेसिक शिक्षा मंत्री डा. सतीश द्विवेदी ने 24 दिसंबर को विसंगति से बाहर होने वाले अभ्यर्थियों को चयनित करने की समय सारणी जारी किया था, परिषद के अधिकारी उसका भी तय समय में अनुपालन नहीं कर सके। इस वजह से काउंसिलिंग की तारीख में बदलाव किया गया था, तीन जनवरी को वेबसाइट पर सूची जारी करने के साथ ही उसी दिन से काउंसिलिंग शुरू करानी थी, ताकि पांच तक संबंधित जिलों में पूरा कराकर छह जनवरी को नियुक्तिपत्र दिया जाए। इसमें किस अभ्यर्थी को कौन जिला आवंटित हुआ है इसका भी उल्लेख रहेगा। 


उधर, भर्ती के अभ्यर्थी छह हजार पदों से संतुष्ट नहीं हैं, उनका कहना है कि गड़बड़ी जितने पदों पर हुई है नियुक्ति उसी के सापेक्ष की जाए।



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें