विधानसभा चुनाव के बाद यूपी बोर्ड परीक्षा, डिप्टी सीएम का बयान - प्राइमरी का मास्टर - PrimaryKaMaster : Primary Ka Master | basic shiksha news | Updatemarts - PRIMARY KA MASTER

Breaking

PrimaryKaMaster : Primary Ka Master | basic shiksha news | Updatemarts - PRIMARY KA MASTER

PrimaryKaMaster : Primary Ka Master | प्राइमरी का मास्टर | Updatemarts - PRIMARY KA MASTER providing all of the primary ka master news, updatemart, basic shiksha news, updatemarts, updatemarts.in, basic shiksha parishad, basic shiksha, up basic news, प्राइमरी का मास्टर.org.in, primarykamaster news, basic shiksha parishad news, primary ka master up, primary master, up basic shiksha parishad, news in uptet, up basic shiksha, up ka master, primary ka master current news today

रविवार, 28 नवंबर 2021

विधानसभा चुनाव के बाद यूपी बोर्ड परीक्षा, डिप्टी सीएम का बयान - प्राइमरी का मास्टर

विधानसभा चुनाव के बाद यूपी बोर्ड परीक्षा, डिप्टी सीएम का बयान


प्रयागराज. एशिया की सबसे बड़ी परीक्षा संस्था माध्यमिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश यानि उत्तर प्रदेश बोर्ड की 10वीं और 12वीं की 2022 की बोर्ड परीक्षा कब होगी इसको लेकर संशय बना हुआ है.लेकिन सूबे के शिक्षा मंत्री और डिप्टी सीएम डॉ दिनेश शर्मा ने बोर्ड परीक्षा को लेकर तस्वीर साफ करते हुए  कहा है कि पहले यूपी विधानसभा चुनाव की तिथियां डिक्लेअर होंगी। उसके बाद ही बोर्ड परीक्षा की तिथियां घोषित की जाएंगी. 



उन्होंने कहा है कि कोविड की महामारी के चलते वर्ष 2021 में बोर्ड परीक्षा नहीं हो सकी थी. जिसके चलते परीक्षार्थियों को प्रोन्नत किया गया था. सूबे के शिक्षा मंत्री और डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने यह बात प्रयागराज में एक कार्यक्रम के दौरान कही है।


बोर्ड परीक्षा में इसके बावजूद कुछ परीक्षार्थी फेल हुए थे, उन्हें अंक सुधार परीक्षा के साथ ही परीक्षा देने का मौका सरकार ने देने का काम किया है. यूपी डिप्टी सीएम डॉ दिनेश शर्मा के कहा है कि अभी परीक्षा कार्यक्रम को लेकर बोर्ड के अधिकारियों के साथ बैठक होनी है. जिसमें इस पर चर्चा की जाएगी। लेकिन इतना तय है कि चुनाव अगर फरवरी में होते हैं तो चुनाव की तिथियां घोषित होने के बाद ही यूपी बोर्ड की परीक्षा की तिथि घोषित की जा सकेगी।


गौरतलब है कि यूपी बोर्ड की परीक्षा में 51 लाख से ज्यादा परीक्षार्थी शामिल होंगे. 10वीं की परीक्षा में करीब 27 लाख और 12वीं की परीक्षा में करीब 23 लाख परीक्षार्थियों के शामिल होने की उम्मीद है. ऐसा माना जा रहा है कि फरवरी और मार्च में ही विधानसभा चुनाव होंगे. क्योंकि चुनाव प्रक्रिया में शिक्षकों की भी ड्यूटी लगाई जाती है. ऐसे में चुनाव कार्यक्रम की वजह से परीक्षाएं बाधित न हो या फिर परीक्षाओं की वजह से चुनाव कार्यक्रमों पर कोई असर न पड़े. इसके लिए चुनाव की तिथियां निर्वाचन आयोग द्वारा घोषित करने के बाद ही बोर्ड परीक्षा कराने की तैयारी की जा रही है।



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें