बच्चों के मिड-डे मील में निकले कीड़े - Sarkari Master | Primary Ka Master News | Basic Shiksha News, Updatemarts - PRIMARY KA MASTER

Breaking

Primary Ka Master Daily News Provides all of the news about primary ka master, shiskhamitra, uptet news, basic shiksha news and etc.

Main Menu

सोमवार, 13 सितंबर 2021

बच्चों के मिड-डे मील में निकले कीड़े

 

बच्चों के मिड-डे मील में निकले कीड़े: हेडमास्टर ने चेकिंग के दौरान चावल में देखे कीड़े, विद्यालय पहुंचे अभिभावकों का हंगामा

मुरादाबाद/ पाकबड़ा : हाशमपुर गोपाल उच्च प्राइमरी विद्यालय पाकबड़ा में मिड-डे मील में सूड़ियां निकलने का मामला सामने आया है। स्कूल पहुंचकर अभिभावकों ने हंगामा किया। मिड-डे मील के चावल में कीड़े निकलने की सूचना पर एनजीओ ने गलती मानते हुए आनन-फानन में भोजन वापस ले लिया।


विद्यालय में अमन कमेटी रामपुर द्वारा मिड-डे मील आ रहा है। सुबह 11 बजे रसोइया ने प्लेटों में भोजन परोसना शुरू कर दिया, तभी हेडमास्टर गिरिराज व एक शिक्षक ने नियमानुसार मिड-डे मील चेक किया तो चावल में कीड़े मिले। तब तक दो से तीन बच्चों के सामने मिड-डे मील परोसकर पहुंच चुका था। तुरंत बच्चों को खाने से रोक दिया गया। मिड-डे मील में कीड़ निकलने पर हेड मास्टर ने बच्चों को घर भोजन करने भेज दिया और खंड शिक्षा अधिकारी उपेंद्र दत्त त्रिपाठी व एनजीओ संचालक को फोन करके इसकी जानकारी दी। इधर बच्चे जब खाना खाने घर पहुंचे तो अभिभावक चौंक गए कि आज घर खाना खाने क्यों आए हैं। बच्चों ने बताया कि खाने में कीड़े निकले हैं। इस पर दर्जनों अभिभावक भी स्कूल पहुंच गए और उन्होंने भी चावल में कीड़े देखकर हंगामा किया। इस घटना पर एनजीओ संचालक व विभाग पूरी तरह पर्दा डालने में लगा हुआ है। बीएसए बुद्ध प्रिय सिंह का कहना है कि क्षेत्र के ग्राम प्रधान एनजीओ की बजाय खुद स्कूल में मिड-डे मील बनाने के लिए प्रार्थना पत्र दे चुके हैं। हो सकता है एनजीओ को बदनाम करने की नीयत से ऐसा किया गया हो। सफाई दी जा रही है कि जिस स्कूल में चावल में कीड़े निकले हैं, उसके अलावा 35 और स्कूलों को भोजन बांटा जा रहा है। जबकि अन्य किसी विद्यालय से इस तरीके की शिकायत नहीं मिली है। जबकि हेडमास्टर कीड़े निकलने और ग्रामीणों की मौजूदगी में दिखाए जाने का दावा किया जा रहा है। प्रधानाध्यापक का कहना है कि स्कूल में 149 बच्चे हैं, जिनमें से शनिवार को 112 उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें