टीजीटी की परीक्षा में पकड़े गए साल्वर केएल पटेल के करीबी के गेस्ट हाउस में रुके थे - Sarkari Master | Primary Ka Master News | Basic Shiksha News, Updatemarts - PRIMARY KA MASTER

Breaking

Primary Ka Master Daily News Provides all of the news about primary ka master, shiskhamitra, uptet news, basic shiksha news and etc.

Main Menu

बुधवार, 11 अगस्त 2021

टीजीटी की परीक्षा में पकड़े गए साल्वर केएल पटेल के करीबी के गेस्ट हाउस में रुके थे

 

टीजीटी की परीक्षा में पकड़े गए साल्वर केएल पटेल के करीबी के गेस्ट हाउस में रुके थे, कई जगह छापेमारी, एसटीएफ लगा रही दूसरे सदस्यों का पता

प्रयागराज : प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक (टीजीटी) की परीक्षा में पकड़े गए साल्वर डा. केएल पटेल के एक करीबी के गेस्ट हाउस में ठहरे थे। गेस्ट हाउस सोरांव थाना क्षेत्र में स्थित है। उसके मालिक को बताया गया था कि वह अभ्यर्थी हैं। उनकी परीक्षा है और रुकने के लिए स्थान नहीं मिल रहा है। इसके बाद दो दिनों के लिए किराए पर गेस्ट हाउस के कमरे लिए गए थे।
PRIMARY KA MASTER | SHIKSHAMITRA | Basic Shiksha News | UPTET NEWS -  UpdateMarts


मामले की तफ्तीश में जुटी कीडगंज पुलिस को ऐसा पता चला है। हालांकि, बाद में जानकारी हुई कि गेस्ट हाउस 69 हजार शिक्षक भर्ती घोटाले के मुख्य आरोपित डा. केएल पटेल का करीबी है। उनके बीच पुराना संबंध है। इस आधार पर माना जा रहा है कि गेस्ट हाउस के मालिक को सच्चाई पता थी। इसके अलावा फरार चल रहा गिरोह का सरगना भी सोरांव का निवासी है। ऐसे में पुलिस यह मानकर चल रही है कि गैंग का कनेक्शन केएल पटेल से है। वह जमानत पर जेल से बाहर है। लिहाजा उसके भी भर्ती में फर्जीवाड़ा करने की आशंका जताई जा रही है। पुलिस फरार सरगना की तलाश में मंगलवार को भी गई जगह छापेमारी की, लेकिन पकड़ में नहीं आया। उधर, स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) की टीम भी पेपर आउट कराने के आरोपित देहरादून एजी आफिस के आडीटर अमित व गैंग से जुड़े अन्य सदस्यों की तलाश कर रही है। एसटीएफ के हाथ कई संदिग्ध मोबाइल नंबर मिले हैं, जिसके जरिए उनकी लोकेशन ट्रेस की जा रही है।

आरोपित का मोबाइल बंद, हैदराबाद जाएगी पुलिस

प्रयागराज : सिविल लाइंस में शेयर ट्रे¨डग कंपनी खोलकर 38 लोगों से सवा करोड़ रुपये की जालसाजी के मामले में पुलिस ने जांच तेज कर दी है। कागजातों को एकत्र किया जा रहा है। आरोपित के पते के बारे में तहकीकात हो रही है। साथ ही उसका मोबाइल बंद होने के कारण उसकी सही लोकेशन ट्रेस नहीं हो पा रही है, जिस कारण पुलिस अब हैदराबाद जाने की तैयारी में है। कर्नलगंज थानांतर्गत एलनगंज के रहने वाले अर¨वद कुमार द्विवेदी ने तीन दिन पहले सिविल लाइंस में जालसाजी का मुकदमा दर्ज कराया था। इसमें लक्ष्मण कुमार नारायण निवासी एसएस नगर उस्मानिया यूनिवर्सिटी हैदराबाद को नामजद किया गया था। अर¨वद ने पुलिस को बताया था कि वर्ष 2014 में सिविल लाइंस में शेयर ट्रे¨डग कंपनी खोलकर लोगों को बताया कि कंपनी में जितने रुपये जमा किए जाएंगे, उसके मुताबिक दो और तीन फीसद ब्याज दिया जाएगा। लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें